Online Chhattisgarh

  2017-08-01

किसानों की आत्महत्या को लेकर हंगामे के बीच शुरू हुआ छत्तीसगढ़ विधानसभा का मानसून सत्र

OnlineCG रायपुर। मंगलवार सुबह से शुरू हो गया है छत्तीसगढ़ विधानसभा का मानसून सत्र। सबसे पहले सदन शुरू होते ही अनिल माधव दवे, विजय बहादुर सिंह और अमरनाथ यात्रा के दौरान मरने वाले यात्रियों को श्रद्धांजलि दी गई। वहीं इस दौरान सत्यनारायण शर्मा ने बस्तर के बुर्कापाल में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों का जिक्र नहीं होने पर अपनी आपत्ति जताई, जिसके बाद स्पीकर ने सदन में बुर्कापाल के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए दिवंगतों के सम्मान में 5 मिनट के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी। इसके बाद सदन की कार्यवाही पुनः शुरू हुई जिस पर विपक्ष ने प्रदेश में किसानों की आत्महत्या का मुद्दा उठाया। विपक्ष द्वारा उठाए गए इस मुद्दे पर सदन में जमकर हंगामा हुआ। वहीं इस हंगामे को देखते हुए सदन की कार्यवाही को 5 मिनट के लिए फिर से स्थगित कर दिया गया। आपको बता दें कि इस बार विधानसभा का मानसून सत्र काफी हंगामेदार रहने वाला है। क्योंकि विपक्ष के पास कई मुद्दे हैं, इनमें प्रदेश में किसानों की आत्महत्या, सूखा और हाल ही में आए मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के जमीन का मामला प्रमुख रूप से शामिल है। इसके लिए सत्ताधारी दल भाजपा को घेरने के लिए कांग्रेस ने पूरी तैयारी कर रखी है। वहीं भाजपा ने विपक्ष के तमाम आरोपों का जवाब देने के लिए मंत्रियों को मैदान में उतारने का प्लान तैयार कर लिया है। सूत्रों से पता चला है कि विधानसभा के इस मानसून सत्र के लिए कुल 1235 सवाल लगाए गए हैं। पता चला है कि 1 से 11 अगस्त के बीच विधानसभा की लगभग 8 बैठकें होंगी। इतना ही नहीं इस सत्र में सरकार पहला अनुपूरक बजट भी लाएगी। साथ ही 8 नए विधेयक सदन में मंजूरी के लिए भी रखे जाएंगे और कई विभागों का वार्षिक प्रतिवेदन पटल पर भी रखा जाएगा।

You Might Also Like