Online Chhattisgarh

  2016-04-14

भिलाई में बन रहा छत्‍तीसगढ़ का पहला स्वर्ण जड़ित जैन मंदिर

भिलाई। भिलाई के नेहरू नगर में जैन समुदाय द्वारा एक ऐसा मंदिर बनाया जा रहा है, जिसमें स्वर्ण जड़ित वेदी पर मूलनायक पार्श्वनाथ भगवान विराजेंगे। संभवतः यह प्रदेश का पहला जैन मंदिर है, जिसमें स्वर्ण जड़ित वेदियां बनाई जा रही हैं। इसके साथ ही मंदिर के भीतर बने गुम्बद व मुख्य मंदिर की भीतरी दीवारों पर 24 कैरेट सोने की पॉलिश वाला कांच लगाया गया है।श्री 1008 पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर समिति के तत्वावधान में नेहरू नगर स्थित मंदिर का जीर्णोद्धार किया जा रहा है। करीब 9 हजार स्क्वॉयर फीट जमीन पर सन्‌ 2000 में बने इस मंदिर को विशाल रूप दिया जा रहा है। मंदिर में इन दिनों मुख्य गुम्बद में मूलनायक पार्श्वनाथ भगवान के लिए नई स्वर्ण जड़ित वेदी बनाई गई है।मंदिर समिति के सदस्य महावीर पाटनी की मानें तो एक महिला श्रद्घालु ने 24 कैरेट सोने का गुप्त दान किया है। इसी सोने से मंदिर परिसर के मुख्य गुम्बद पर पॉलिश कराई गई है। इसके साथ ही परिसर में सोने के पॉलिश वाले कांच व डिजाइनर आकृतियां मंदिर की चमक बढ़ा देती हैं।

You Might Also Like