Online Chhattisgarh

  2016-03-15

ओले और बारिश से चना-गेहूं के फसल बर्बाद

रायपुर। प्रदेश में लगातार दूसरे दिन भी बारिश हुई है। इससे तापमान में कमी आई है। दो दिन में रायपुर का पारा 10 डिग्री गिरा है। सोमवार को दुर्ग भिलाई, राजनांदगांव, अबिकापुर सहित आधा दर्जन से ज्यादा शहरों में बारिश के साथ ओले पड़े हैं, जिससे चना और गेहूं की फसलों को नुकसान होने की आशंका है। मौसम विभाग ने आगामी चौबीस घंटे में अंधड़ के साथ ओले गिरने की चेतावनी दी है। छत्तीसगढ़ का मौसम शनिवार की शाम से बदला है और तब से यहां अंधड़ के साथ बारिश हो रही है। इससे गर्मी से राहत तो मिली है, लेकिन खेती किसानी पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। सर्वाधिक गरम बिलासपुर का पारा 40 डिग्री से उतरकर 28 में पहुंच गया है। इसी तरह दूसरे शहरों के तापमान में गिरावट आई है। सोमवार की सुबह से आसमान में बदली छाई रही और दिन भर मौसम सुहाना रहा। दुर्ग भिलाई में सुबह से झमाझम बारिश के साथ ओले गिरे। इसी तरह राजनांदगांव, कांकेर, मानपुर मोहला, अंबिकापुर में ओले गिरने से फसलों को नुकसान हुआ है। खेती के जानकारों का कहना है कि ऐन रबी फसल के पकने के समय में यह बेमौसम बरसात हुई है, जिससे पकी फसल खराब हो गई। चना की फसल खेतों में काट कर रखी गई है, जो बारिश में भीग गए। लालपुर मौसम केन्द्र के निदेशक डॉ.एम एल साहू ने बताया कि ऊपरी हवा में चक्रवात बना हुआ है, जिसके असर से प्रदेश में बारिश और ओले गिर रहे हैं। अभी एक दो दिनों तक मौसम इसी तरह बने रहने की संभावना है।

You Might Also Like