Online India

Pooja Sharma   2017-11-04

छत्तीसगढ़ियों की पीड़ा को महसूस कर अटल-आडवाणी ने बनाया छत्तीसगढ़ राज्य: बृजमोहन

- मोदी-रमन के नेतृत्व में समृद्ध हो रहा देश-प्रदेश

- बालोद के राज्योत्सव में शामिल हुए कृषि-सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल

OnlineIndia रायपुर। जिला मुख्यालय बालोद में आयोजित राज्योंत्सव में शुक्रवार को जिले के प्रभारी एवं प्रदेश के कृषि-सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल शामिल हुए। इस अवसर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए बृजमोहन ने कहा कि 17 वर्ष पूर्व हमारे छत्तीसगढ़ राज्य की उपेक्षा होती थी। हम छत्तीसगढ़ियों का उपहास उड़ाया जाता था। इतना ही नहीं विकास की दौड़ से छत्तीसगढ़ क्षेत्र को बाहर रखा जाता था। परंतु जब अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री बने तब उन्होंने छत्तीसगढ़वासियों की इस पीड़ा को महसूस किया। पश्चात अटल जी-आडवाणी जी ने मिलकर छत्तीसगढ़ राज्य का निर्माण कर हमें एक बड़ी सौगात दी और छत्तीसगढ़ व् छत्तीसगढ़ियों की समृद्धि का मार्ग प्रसस्त किया। इस अवसर पर उन्होंने देश-प्रदेश की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्योछावर करने वाले वीर शहीदों के परिजनों को उन्होंने सम्मानित किया।

 

यह राज्योत्सव सरदार वल्लभ भाई पटेल खेल मैदान में किया जा रहा है। यहां पर शासन के विभिन्न विभागों के स्टॉल लगाए गए हैं जहां पहुंचने वाले लोगों को योजनाओं से अवगत कराया जा रहा है। मुख्य अतिथि की आसंदी से दिए अपने संबोधन में बृजमोहन ने कहा कि छत्तीसगढ़ की हमारी भाजपा सरकार गांव-गरीब और किसानों की बेहतरी के लिए काम कर रही है। फलस्वरूप 17 वर्ष का यह नौजवान प्रदेश विकास की दौड़ में अव्वल हो गया है। राज्य का निर्माण जब हुआ तब यहां 7 हज़ार स्कूल थे। आज उनकी संख्या 60 हज़ार है। सन् 2000 में किसानों के खेतों में पम्पों की संख्या 70 हज़ार थी, आज वह बढ़कर 4.50 लाख हो गई है। सिंचाई का रकबा 23% से बढ़कर 34% हो गया है। किसानों की आय दोगुनी करने के लिए सरकार अनेकों योजनाएं चला रही है। सूक्ष्म सिंचाई की ओर किसानो को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करने ड्रिप इरीगेशन स्प्रिंकलर अनुदान पर प्रदान किए जा रहे हैं।

 

छत्तीसगढ़ का किसान आज केवल धान ही पैदा नहीं कर रहा, वह फल-फूल और सब्जी की बेहतर खेती करने लगा है जिससे उनके जीवन का स्तर सुधरता दिखाई पड़ रहा है। हमारी सरकार का यह प्रयास है कि किसानों को हर तरह की सुविधा प्रदान की जा सके। उन्हें खाद-बीज तथा पानी की कमीना हो इस बात पर विशेष ध्यान दिया गया है। क्योंकि किसान की तरक्की होगी तभी प्रदेश खुशहाल होगा। आज गौ पालन के लिए हमारी जो योजना चल रही है वह देश में सर्वश्रेष्ठ है। 12 लाख रुपए तक ऋण 50 फिसदी सब्सिडी में गौ पालन डेयरी उद्यमिता के लिए प्रदान किया जा रहा है। बालोद जिले में अनेकों किसान इस योजना से लाभांवित हुए हैं। अग्रवाल ने कहा कि हमारी सरकार ने दीपावली के पूर्व प्रदेश के 13 लाख किसान परिवारों को धान बोनस प्रदान किया है। यह खुशी की बात है कि यहां के जिला सहकारी केंद्रीय बैंक दुर्ग के बोनस प्राप्त करने वाले 92 हज़ार किसानों में से 90 हज़ार किसानों ने बोनस के पैसे अपने खाते से निकाले हैं। समारोह के दौरान शासन की विभिन्न योजनाओं की अनुदान राशि हितग्राहियों को प्रदान की गई। 

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like