Online Chhattisgarh

Pooja Sharma   2017-12-15

एक साल के अंदर टूट सकता है बीजेपी-शिवसेना गठबंधन?

OnlineIndia ब्यूरो। शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे द्वारा दिए गए एक बयान के बाद महाराष्ट्र की सियासत में बड़े बदलाव के संकेत आ रहे हैं। आदित्य के दिए उस बयान के बाद से भाजपा-शिवसेना गठबंधन पर ग्रहण लगता दिखाई दे रहा है। दरअसल आदित्य ठाकरे ने अपने बयान में साफ-साफ संकेत दे दिए हैं कि साल 2019 में होने वाले महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में शिवसेना भाजपा के साथ चुनाव नहीं लड़ेगी। आदित्य ने कहा कि शिवसेना आगामी विधानसभा चुनाव अपने दम पर अकेले लड़ेगी और एक साल के अंदर महाराष्ट्र सरकार को छोड़ देगी।

वैसे भी पिछले काफी समय से शिवसेना और भाजपा के बीच कुछ ठीक नहीं चल रहा है। इतना ही नहीं भाजपा के साथ तल्ख रिश्ते साझा कर रही शिवसेना इससे पहले भी राजग सरकार से बाहर होने की कई बार धमकी दे चुकी है। और तो और शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में भी भाजपा सरकार के कई फैसलों की आलोचना कर चुकी है। वहीं शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे भी भाजपा के फैसलों पर कई बार अपनी असहमति जता चुके हैं। ज्ञात हो कि पिछले दिनों महाराष्ट्र में किसानों की कर्जमाफी को लेकर उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की कड़ी आलोचना की थी। साथ ही साथ नोटबंदी और पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से लेकर महंगाई तक के मुद्दे पर शिवसेना ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को घेरा था।

वहीं अब अहमदनगर जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए शिवसेना की युवा इकाई युवा सेना के प्रमुख आदित्य ठाकरे ने कहा है कि, ‘‘शिवसेना एक वर्ष में सरकार छोड़ देगी और अपने बल पर महाराष्ट्र की सत्ता में वापस आएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि पार्टी सरकार कब छोड़ेगी इसका निर्णय शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे करेंगे।’ अब देखना यह होगा कि साल 2019 के महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में इस बयान का कितना असर पड़ता है।

You Might Also Like