Online India

OnlineIndia   2018-01-21

बिना अनुमति के महिला को कोई छू भी नहीं सकता: दिल्ली कोर्ट

OnlineIndia डेस्क। दिल्ली की एक अदालत ने कहा है कि महिला की सहमति के बिना कोई उसे छू नहीं सकता। कोर्ट ने नौ साल की एक बच्ची का यौन उत्पीड़न करने के मामले में छवि राम नामक व्यक्ति को दोषी ठहराया और उसे पांच साल कैद की सजा सुनाते हुए यह टिप्पणी की। अडिशनल सेसन जज सीमा मैनी ने उत्तर प्रदेश निवासी छवि राम को पांच साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई है।

जानकारी के अनुसार छवि राम ने उत्तरी दिल्ली के मुखर्जी नगर इलाके के एक भीड़ भरे बाजार में नाबालिग के साथ छेड़छाड़ की थी। यह घटना 25 सितंबर 2014 की है। छेड़छाड़ के दोषी छवि राम को सजा सुनाते हुए कोर्ट ने कहा कि महिला का शरीर उसका अपना होता है और उस पर सिर्फ उसी का अधिकार होता है।

कोर्ट ने कहा कि दूसरों को बिना महिला की इजाजत के उसे छूने की मनाही है, भले ही यह किसी भी उद्देश्य के लिये क्यों न हो। कोर्ट ने छेड़छाड़ के खिलाफ सख्त रुख अपनाते हुए कहा कि छवि राम एक यौन विकृत शख्स है जो किसी भी तरह की रियायत का हकदार नहीं है। अदालत ने दोषी छवि राम पर 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है। जिसमें से पांच हजार रुपए पीड़िता को दिए जाएंगे। इसके अलावा दिल्ली स्टेट लीगल सर्विस अथॉरिटी को भी पीड़िता को 50,000 रुपये देने का आदेश दिया है।

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like