Online India

OnlineIndia   2018-01-22

जानिए घर में कौन-कौन से पौधे लगाना होता है शुभ

OnlineIndia डिफरेंट एंगल। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में मनी पलांट लगाना बहुत ही शुभ होता है। ज्योतिष के अनुसार मनी पलांट शुक्र ग्रह का कारक है। शुक्र की उपस्थिति में पति-पत्नी के संबंध मधुर होते हैं। जानिए उन पौधों के बारे में जिन्हें घर में लगाना शुभ या अशुभ माना जाता है।

  1.  घर में कांटेदार व दूध (जिनके कटने-छिलने पर सफेद द्रव्य निकलता हो) वाले पौधे नहीं लगाना चाहिए। क्योंकि कांटे नकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करते हैं। गुलाब जैसे कांटेदार पौधे लगाए जा सकते हैं, पर इसे घर की छत पर रखें तो बेहतर रहेगा।
  2.  घर में बांस के पौधे लगा सकते हैं। फेंगशुई के अनुसार बांस के पौधे सुख व समृद्धि के प्रतीक होते हैं।
  3.  घर या कार्य स्थल (दुकान व ऑफिस) की पॉजिटिव एनर्जी को बढ़ाने के लिए गुलदस्तों में रोज ताजे फूल लगाएं। फूलों के गुलदस्ते ताजगी व सौभाग्य की वृद्धि करते हैं। मुरझाए फूल व पत्तियां निगेटिव एनर्जी उत्पन्न करती हैं।
  4. बेडरूम में किसी भी तरह के पौधे लगाने से बचना चाहिए। इससे मैरिड लाइफ पर बुरा असर पड़ सकता है। डाइनिंग व ड्रॉइंग रूम में गमले रखे जा सकते हैं।
  5. यदि घर की किसी दीवार पर पीपल उग आए तो उसे पूजा करके हटाते हुए गमले में लगा देना चाहिए। पीपल को बृहस्पति ग्रह का कारक माना जाता है।
  6. बोनसाई पौधा भी घर में तैयार नहीं करने चाहिए और न ही बाहर सेलाकर लगाने चाहिए। वास्तुशास्त्र के अनुसार बोनसाई पौधा घर में रहनेवाले सदस्यों का आर्थिक विकास रोकते हैं।
  7. तुलसी का पौधा बेहद कल्याणकारी, बहुउपयोगी, पवित्र एवं शुभ माना जाता है। तुलसी में एंटीबायोटिक सहित अनेक औषधीय गुण होते हैं। इसका स्पर्श व इसकी हवा दोनों लाभकारी है। इसलिए इसे घर में अवश्य लगाना चाहिए। तुलसी का पौधा वायु प्रदूषण को भी कम करता है। तुलसी का पौधाघर के ब्रह्म स्थल यानी बीचोबीच लगाना चाहिए। वैसे इसे घर के किसी भी कोने में लगाया जा सकता है। इसे गंदे स्थान पर न लगाएं।
  8. गुलाब, चंपा व चमेली के पौधे घर में लगाना अच्छा माना जाता है क्योंकि इससे मानसिक तनाव व अवसाद में कमी आती है।
  9. बेडरूम के नैऋत्य कोण में टेराकोटा या चीनी मिट्टी के फूलदानों में सूरजमुखी के असली या नकली फूल लगा सकते हैं।
  10. चंपा, नागचंपा, चमेली, बेला, रात रानी आदि फूल घर के बाहर ही लगाएं।

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like