Online India

Pooja Sharma   2018-01-23

बीजेपी से अलग हुई शिवसेना, अपने दम पर लड़ेगी अगला लोकसभा चुनाव

OnlineIndia ब्यूरो। करीब दो दशक से एनडीए की प्रमुख सहयोगी रही शिवसेना ने भाजपा को तगड़ा झटका दिया है। शिवसेना की मंगलवार को हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में 2019 के लोकसभा और विधानसभा चुनाव बीजेपी से अलग होकर लड़ने का फैसला किया गया है। बता दें कि पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के दौरान पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पार्टी ने फैसला किया है कि राज्य में पार्टी अपने दम पर आगे चुनाव लड़ेगी। इतना ही नहीं उद्धव ने कहा कि उनकी पार्टी हिंदुत्व की रक्षा के लिए महाराष्ट्र ही नहीं दूसरे राज्यों में भी चुनाव लड़ेगी। आगे उन्होंने कहा कि पार्टी की हार होती है या जीत यह जरूरी नहीं, पार्टी की विचारधारा जरूरी है।

आपको बता दें कि शिवसेना महाराष्ट्र और केंद्र में बीजेपी की अहम सहयोगी है तथा महाराष्ट्र में अभी बीजेपी और शिवसेना की गठबंधन सरकार है। बीजेपी राज्य में सबसे बड़ी पार्टी है और पिछला चुनाव शिवसेना और बीजेपी ने अलग-अलग ही लड़ा था। चुनाव परिणामों के बाद सत्ता समीकरण के चलते दोनों दलों में गठबंधन हुआ और बीजेपी के नेतृत्व में सरकार बनी थी। कार्यकारिणी की बैठक में उद्धव ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने जो विश्वास उन पर और पार्टी पर जताया है वह उसके आभारी हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी से अलग होकर चुनाव लड़ने का फैसला काफी विचार करने के बाद लिया गया है। ज्ञात हो कि शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' के जरिए हाल के दिनों में नरेंद्र मोदी सरकार की कई मुद्दों पर आलोचना की थी। इस दौरान उद्धव ठाकरे ने नितिन गडकरी पर भी जमकर हमला बोलते हुए उन्‍होंने कहा था कि शहीदों पर नितिन गडकरी का बयान ठीक नहीं है।

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like