Online India

Pooja Sharma   2018-03-13

भोरमदेव महोत्सव में स्थानीय कलाकार व कार्यक्रम को दिया जाएगा अधिक महत्व

OnlineIndia कवर्धा। भोरमदेव महोत्सव में इस बार लोकगीतों की छटा अधिक दिखाई देगी। राष्ट्रीय स्तर के कलाकारों के बजाए स्थानीय कलाकार व कार्यक्रम को अधिक महत्व दिया गया है। साथ ही रियॉलिटी शो और नए बॉलीवुड सिंगर को भी स्थान मिला है।

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ का खजुराहो भोरमदेव मंदिर राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त कर चुका है। इस मंदिर में हर वर्ष महोत्सव का आयोजन किया जाता है। इस वर्ष 14 व 15 मार्च को दो दिवसीय भोमरदेव महोत्सव आयोजित है। इस बार जहां हिन्दी गायन, कत्थक राकर्स, शिव तांडव, लोकरंग रहेगी वहीं दूसरी ओर छत्तीसगढ़ के लोकगीत की धुन भी सुनाई देंगी। इस बार एक तरफ लोकगीत तो दूसरी ओर सभी स्तर के लिए कार्यक्रमों का मुकाबला है।

महोत्सव में छत्तीसगढ़ी और छत्तीसगढ़ के कुल पांच कार्यक्रम हैं। दो दिन के महोत्सव में कुल 16 कार्यक्रम रखे गए हैं। इसमें इंदिरा संगीत कला विश्व विद्यालय के कार्यक्रम में शामिल है। इसी प्रकार कत्थ्क राकर्स दुर्ग , बांस गीत सिद्ध राम यादव, शिव ताड़व अश्लेषा गु्रप, प्रियाणी वाणी, मदन शुक्ला गायक व लोकरंग अर्जुन्दा का कार्यक्रम पहले दिन रखा गया है। जो प्रदेश के लिए जाने माने कलाकार है।

वहीं भोरमदेव महोत्सव में बॉलीवुड शो प्रियाणी वाणी और मदन शुक्ल हिन्दी गीत की प्रस्तुति देंगे। वहीं बस्तर बैंड भी खुब धूम मचाने वाली होगी। लेकिन इस बार भी प्रचार प्रसार पर ध्यान नहीं दिया गया है। इस बार टीवी में छाएं प्रवीण बसनेट सुफी, गजल व भजन में अपना हुनर दिखाने वाले है। इसी प्रकार सर्वम पटेल का सैंड आर्टिस्ट, बांसुरी वादन हिमांश नंदा, शिव भजन व देवेश शर्मा का जशगीत का आयोजन किया गया है। महोत्सव में दोनों दिन छत्तीसगढ़ लोक कलाकार का सांस्कृतिक कार्यक्रम रखा है।

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like