Online India

Roshan Bharti   2018-03-13

जानिए क्यों 500 करोड़ का कर्ज लेने जा रही है छत्तीसगढ़ सरकार

OnlineIndia रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार के 87 हजार करोड़ से अधिक बजट को पास हुए अभी महीने भर का भी समय नहीं हुआ है और सरकार फिर 500 करोड़ का कर्ज लेने जा रही है। इसके लिए सरकार ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) को प्रतिभूति (सिक्योरिटी) बिक्री का प्रस्ताव दिया है। तीन महीने में यह तीसरा मौका है, जब राज्य सरकार कर्ज ले रही है।

आपको बता दें कि इसी साल जनवरी में सरकार ने दो बार 21 सौ करोड़ का कर्ज लिया है। चुनावी साल में सरकार का यह कर्ज राजनीतिक मुद्दा भी बन सकता है। प्रतिभूति बेचने की कतार में छत्तीसगढ़ के साथ 13 और राज्य भी खड़े हैं। कुल 14 हजार करोड़ रुपए से अधिक की प्रतिभूति बेचने का प्रस्ताव दिए हैं। आरबीआई ने इसके लिए नौ मार्च को टेंडर जारी किया है। सफल बीडर के नाम की घोषणा 13 मार्च को की जाएगी।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया यानि आरबीआई छत्तीसगढ़ सरकार की 500 करोड़ की प्रतिभूतियां नीलाम करेगा। छत्तीसगढ़ सरकार को अपनी योजनाओं को पूरा करने के लिए धन की आवश्यकता है। इसलिए उसने रिजर्व बैंक की शरण ली है। वित्त विभाग के अफसरों के अनुसार सूखा प्रभावित किसानों को आर्थिक मदद के साथ ही सरकार को अपनी कुछ योजनाओं के लिए फंड की जरूरत है। इसी वजह से यह फैसला किया गया है।

छत्तीसगढ़ सरकार ने वित्तीय वर्ष 2014-15 से जनवरी 2018 तक रिजर्व बैंक से 18350 करोड़ रुपए का कर्ज ले चुकी है। इसमें 2014 में चार बार में 2200, 2015 में छह बार में पांच हजार, 2016 में तीन बार में 1850 और 2017 में पांच बार में 7200 करोड़ रुपए लिया है। इस साल 2 और 30जनवरी को एक हजार और 11 सौ करोड़ का कर्ज सरकार ने लिया है।

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like