Online India

OnlineIndia   2018-03-21

नई रेल लाइन निर्माण में छत्तीसगढ़ के 459.523 हेक्टेयर काटे जाएंगे जंगल

OnlineIndia रायपुर। छत्तीसगढ़ में गेवरा रोड से पेंड्रारोड तक प्रस्तावित नई रेल लाइन के निर्माण में 459.523 हेक्टेयर जंगल काटे जाएंगे। 135.3 किमी की इस रेल लाइन के निर्माण के लिए छत्तीसगढ़ सरकार ने छत्तीसगढ़ ईस्ट रेलवे लिमिटेड (सीईआरएल) और छत्तीसगढ़ वेस्ट रेलवे लिमिटेड (सीईडब्ल्यूआरएल) नाम की दो कंपनियों को गठन किया है।
गेवरा रोड-पेंड्रा रोड रेल लाइन प्रदेश के कोयला प्रचुर इलाकों से होकर गुजरेगी। केंद्र सरकार ने ओड़िशा, झारखंड और छत्तीसगढ़ के बीच कोयला कनेक्टिविटी प्रोजेक्ट के तहत एमओयू (मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग) किया है। आपको बता दें कि इस परियोजना को स्वीकृति मिल चुकी है और इस साल के बजट में भी इसे शामिल किया जा चुका है। अब इसका निर्माण शुरू करने की तैयारी की जा रही है। इससे पहले दोनों रेल कंपनियों ने वन एवं पर्यावरण मंत्रालय से पर्यावरणीय स्वीकृति मांगी है। इस प्रोजेक्ट में छत्तीसगढ़, झारखंड और ओड़िशा के कोयला खदान वाले इलाके रेल नेटवर्क से जोड़ने की योजना है।
गेवरा रोड़-पेंड्रा रोड रेल लाइन कोरबा और बिलासपुर जिलों के दीपिका, कटघोरा, सेंदुरगढ़, पसान आदि कोयला खदानों से होकर गुजरेगी। इसका उपयोग माल ढुलाई और यात्री परिवहन दोनों प्रकार से किया जाएगा। राज्य सरकार के उच्च पदस्थ अधिकारियों ने बताया कि इस रेल लाइन के लिए साउथ ईस्ट सेंट्रल रेलवे ने 2012 से 2017 के बीच 27 प्राथमिक और इंजीनियरिंग तथा ट्रेफिक सर्वे किया। इसी सर्वे से यह पता चलता है कि नई रेल लाइन की कितनी उपयोगिता और जरूरत है। इससे यह भी पता चलता है कि रेल लाइन से कमाई कितनी होगी। सर्वे में इस रेल लाइन को हरी झंडी मिलने के बाद ही इसे बजट में शामिल किया गया है।

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like