Online India

OnlineIndia   2018-03-22

बस्तर में मिली गुप्त काल के दो कलश में भरी हुई स्वर्ण मुद्राएं

OnlineIndia जगदलपुर। छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले का एक प्रमुख शहर जगदलपुर से 71 किमी दूर माओवाद प्रभावित इलाका किन्दरवाड़ा में दो कलश में भरी हुई स्वर्ण मुद्राएं जमीन के अंदर से मिली है। यह पुरातात्विक महत्व के दुर्लभ मुद्राएं गुप्त काल के होने की संभावना जताई जा रही है। वर्तमान में कई स्वर्ण मुद्राएं जिला नाजीरात शाखा में रखी हुए हैं, पर इन मुद्राओं को सही पहचान नहीं मिल पा रही है।

आपको बता दें कि इससे पूर्व में भी बस्तर जिले में कई जगहों से स्वर्ण मुद्राएं मिली हैं, लेकिन इसका संरक्षण नहीं हो पा रहा है। इससे पहले राजनगर, धोबीगुड़ा, भंडार सिवनी से भी स्वर्ण मुद्राएं मिल चुकी हैं। 31 जनवरी को किन्दरवाड़ा के ग्रामीण मिलाराम को स्वर्ण मुद्राएं मिली, यह बात उसने कुछ दिन किसी को नहीं बताई। स्वर्ण मुद्राएं है या नहीं इस बात को लेकर एक ग्रामीणों को बताया और बात पूरे गांव में फैल गई।

स्वर्ण मुद्राएं मिलने की भनक जैसे ही पुलिस को लगी वह तुरंत दोनों कलश ले गई और इस मामले को दबा दिया गया। ग्रामीणों को 24 मुद्राएं देकर धमकी दी गई कि किसी को न बताए। इससे पहले 1992 में लोहांडीगुड़ा के गढि़या में भी स्वर्ण मुद्राएं मिली थी। लेकिन अब तक यह लंबित है। बस्तर के कई गांवों से पहले भी स्वर्ण मुद्राएं मिली है, जो जिला नाजीरात में रखी हुई है। मामले में पुरातत्व विभाग अध्यक्ष एएल पैकरा ने बताया कि, स्वर्ण मुद्राओं के संरक्षण के लिए हमने प्रस्ताव दिया हुआ है।

 

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like