Online India

Roshan Bharti   2018-04-21

यशवंत सिन्हा ने भाजपा का छोड़ा साथ, कहा- देश में लोकतंत्र पर मंडरा रहा खतरा

OnlineIndia डेस्क। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने खुद को पार्टी से अलग कर लिया है। शनिवार (21 अप्रैल) को उन्होंने पार्टी छोड़ने का ऐलान किया। कहा कि आज देश में लोकतंत्र पर खतरा मंडराने की स्थिति नजर आ रही है। हमें इस स्थिति पर मिलकर विचार-विमर्श करना है। सिन्हा ने यह ऐलान करने से पहले विपक्षी दलों के कई नेताओं के साथ बैठक की थी, जिसमें उन्होंने बीजेपी को अलविदा कहने का जिक्र भी किया था।

शनिवार को सिन्हा बिहार की राजधानी पटना में थे। उन्होंने दोपहर में यहीं एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की थी। यशवंत सिन्हा ने कहा कि भाजपा के साथ सभी संबंधों को आज समाप्त करता हूं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आज दलगत राजनीति से भी मैं संन्यास लेता हूं। यशवंत सिन्हा ने कहा कि मैंने संबोधन में जानबूझ कर मित्रों नहीं कहा, जब देश मुसीबत में था, पटना ने रास्ता दिखाया था। आज भी देश को पटना रास्ता दिखाएगा। गुजरात चुनाव के कारण संसद का सत्र छोटा किया गया, देश में ऐसा कभी नहीं हुआ। हम देश की हालत पर विचार करने आए हैं। देश की परिस्थिति चिंताजनक है।

उन्होंने कहा कि पटना से मेरा लगाव शुरू से रहा है। मैंने यहां पढ़ाई की और नौकरी भी की। शत्रुघ्न सिन्हा घबराएं नहीं, मैं यहां से चुनाव नहीं लड़ूंगा। मेरा दिल देश के लिए धड़कता है। यशवंत सिन्हा ने सुप्रीम कोर्ट पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी की और कहा कि सुप्रीम कोर्ट का एक भाग सड़ गया जिससे बदबू आ रही है। आपको बता दें कि पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में प्रस्तावित इस अधिवेशन में देशभर के प्रमुख दलों के नेता एवं प्रतिनिधि शामिल हो रहे हैं। कार्यक्रम में कांग्रेस, राजद, आम आदमी पार्टी एवं सपा समेत भाजपा-जदयू के असंतुष्ट नेताओं को भी बुलाया गया है।

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like