Online India

OnlineIndia   2018-06-15

अगर आप भी प्राइवेट नौकरी करते हैं तो जरूर करें ये 4 काम

OnlineIndia डेस्क। जब भी हम किसी जगह जॉब के लिए जाते है तो सबसे पहला सवाल होता है कि सैलरी कितनी होगी। कॉलेज खत्म होने और जॉब लगने के बाद युवा पहली सैलरी आने के बाद खुश हो जाते है। कई बार वह बिना सोचे समझे ही पैसे खर्च कर देते है। लेकिन यह नहीं सोचते कि जो पैसा खर्च किया जा रहा है वह सही है या नहीं। अगर आप प्राइवेट नौकरी कर रहे हैं तो ऐसा मानने की भूल कतई न करें कि‍ ये नौकरी हमेशा बरकरार रहेगी। अगर कंपनी आपको अचानक नौकरी छोड़ने का नोटि‍स थमा दे तो आप क्या करेंगे। हम बताते हैं आपको वो 4 काम की बातें जो आपके बुरे वक्त में काम आएगी।
अगर आप प्राइवेट नौकरी में हैं तो सबसे पहले इस बात का अंदाजा लगाएं कि अगर आपकी नौकरी चली गई तो नई नौकरी ढूंढने में आपको कितना वक्त लगेगा। एक्‍सपर्ट कहते हैं कि हमें 4 से 6 महीने का वक्त अपने हाथ में लेकर चलना चाहिए। यानी आपको 4 से लेकर 6 महीने का सैलरी बैकअप तैयार करना होगा।
प्राइवेट नौकरी करने वाले हर शख्स के लिए दूसरा सबसे जरूरी स्टेप है टर्म इंश्‍यारेंस। आपको कुछ हो जाए तो आपके परिवार का क्या होगा। बच्चे कैसे पढ़ेगे, घर कैसे चलेगा। इस बात को ध्यान में रखते हुए हर नौकरी पेशा करने वाले शख्स को कोई न कोई टर्म प्लान जरूर लेना चाहिए। जिससे आपके परिवार को तुरंत आर्थिक मदद मिल जाए।
पीपीएफ यानी पब्‍लिक प्रॉविडेंड फंड सरकारी योजना है और इसमें एक समय बाद रुपया बेहद तेज रफ्तार से बढ़ता है। इस खाते को आप किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफि‍स में खोल सकते हैं। इसमें मौजूद इंटरेस्‍ट रेट 7.6% है। यह हर ति‍माही रि‍वाइज होता है। इसमें आप केवल 15 साल तक ही पैसा जमा कर सकते है।
आजकल बड़े अस्‍पताल में इलाज करवाना किसी के लिए आसान नहीं है। मेडि‍क्‍लेम पॉलि‍सी एक ऐसा इंस्‍ट्रूमेंट है जो कम कमाने वाले और उसके परिवार को भी महंगे से महंगे अस्पताल में इलाज कराने की सुविधा मुहैया कराता है। अगर आपको कंपनी की तरफ से मेडि‍क्‍लेम मिला है तो एक बार उसका रीव्‍यू जरूर करें।

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like