Online India

Pooja Sharma   2018-07-23

बोलते ही इच्छा पूरी करने वाली एलेक्सा को विदेशी ने नहीं, भारत के इस इंजीनियर ने बनाया

OnlineIndia डिजिटल एक ऐसा डिवाइस जो आपकी एक आवाज पर आपकी सारी मांग पूरी करता है। क्रिकेट के स्कोर जानना हो, कोई फिल्म देखना हो, गाने सुनना हो या शॉपिंग करना हो। सब एक आवाज पर तैयार करने वाली ''एलेक्सा से पूछा जाएगा की तुम्हें किसने बनाया है? मुझे एमेजन ने बनाया है।'' एलेक्सा से जब आप ऐसा कोई सवाल पूछेंगे तो उसका जवाब यही होगा। लेकिन एलेक्सा इस बात को कभी नहीं बोलती कि 5 साल पहले उस प्लास्टिक जैसे दिखने वाले डब्बे में अगर किसी ने जान भरी थी वो झारखंड के रांची के रहने वाले इंजीनियर रोहित प्रसाद थे।  

झारखंड की राजधानी रांची के रहने वाले रोहित, यहां के डीएवी पब्लिक स्कूल से पढ़े हैं। बीआईटी से इंजीनियरिंग की और आगे की पढ़ाई के लिए विदेश चले गये। इंजीनियरिंग करने के लिए उनके पास दो विकल्प थे। पहला  IIT रुड़की और दूसरा  बिड़ला इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (BIT), उन्होंने रांची में ही रहने का फैसला किया और मेसरा में पढ़े। साल 1997 में उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन की पढ़ाई पूरी कर ली।

विदेश में उन्होंने इलिनॉइस इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी में पढ़ाई की और यहीं से वायरलेस कोडिंग पर रिसर्च की शुरूआत की। यहीं से आवाज पहचान कर जवाब देने की तकनीक पर उन्होंने काम किया और Amazon Alexa पर काम के लिए Recode वेबसाइट ने रोहित और उनके साथी टोनी रेड को 2017 में टेक बिजनेस के टॉप 100 लोगों की सूची में 15 वें नंबर पर रखा था। साल 2013 में उन्होंने अमेजन के साथ हाथ मिला लिया। दो साल पहले ही अमेजन ने उन्हें अलेक्सा आर्टिफिशिअल इंटेलिजेंस का  हेड साइंटिस्ट बना दिया।  रोहित का पूरा परिवार रांची में ही रहता है। रोहित अपने काम में व्यस्त रहते हैं लेकिन परिवार के लिए समय निकाल कर मिलने जरूर आते हैं। 

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like