Online Chhattisgarh

  2017-01-22

फूलपाड़ जलप्रपात होगा देश के पर्यटन नक्शे पर

OnlineCG Bureau। कुआकोंडा ब्लॉक के सबसे ऊंचे जलप्रताप फूलपाड़ तक पहुंचने वाला मार्ग सुलभ होने के साथ ही झरना के पास सुरक्षा की व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए सरकार के पास प्रस्ताव भेजा गया है। जल्द ही डेढ़ करोड़ रुपए स्वीकृति मिलने वाली है। इससे झरने की खूबसूरती निखरेगी और इसे देखने लोग पहुंचेंगे। यह बात छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के सदस्य श्रवण कड़ती ने कही है।

शनिवार को कुआकोंडा क्षेत्र के भ्रमण में छग पर्यटन मंडल बोर्ड के सदस्य श्रवण कड़ती व कुआकोंडा मंडल के मंडल अध्यक्ष सत्यजीत चौहान के साथ ब्लॉक के दौरे पर पहुंचे थे। उन्होंने अंचल की प्राकृतिक सुंदरता को और निखारने की दिशा में बेहतर कार्य करने की बात कही। शासन से डेढ़ करोड़ रूपए की स्वीकृति के बाद फूलपहाड़ झरना भी तीरथगढ़ की तर्ज में खूबसूरती बिखेरेगी। श्रवण कड़ती ने बारसूर महोत्सव के सफल आयोजन से खुशी जाहिर करते कहा कि इससे क्षेत्र की संस्कृति और धरोहर के संरक्षण के साथ प्रचार का अच्छा तरीका रहा है।

उन्होंने गीदम के पर्यटन मोटल पर निशाना साधते हुए कहा कि जनपद सीईओ जिला स्तर के अधिकारियो को जानकारी दिए बिना ही टेंडर प्रक्रिया में खिलवाड़ करते हुए चहेतों को संचालन का जिम्मा दे दिया है। मोटल शासकीय धरोहर है न की किसी अधिकारी या व्यक्ति की निजी संपत्ति। एग्रीमेंट प्रक्रिया में पारदर्शिता नहीं बरतने से मोटल का दुबारा संचालन होने से पहले ही तालाबंदी की स्थिति बन गई है। नेताद्वय ने गढ़पदर के कोडराज बाबा के मंदिर परिसर में भी प्रशासन की व्यवस्था और मदद का भरोसा ग्रामीणों को दिलाया है। उन्होंने मंदिर परिसर में सौर ऊर्जा से प्रकाश व्यवस्था के लिए जिला प्रशासन से मांग की बात कही है।

You Might Also Like