Online Chhattisgarh

  2017-01-05

गूगल प्ले स्टोर में कई नकली BHIM एप शामिल

लोगों के लिए पहचानना हुआ मुश्किल

OnlineCG Technology | कैशलेस इकोनॉमी को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 30 दिसंबर को BHIM एप लॉन्च किया था। दो ही दिन के अंदर यह गूगल के प्ले स्टोर से सबसे ज्यादा डाउनलोड की जाने वाली एप्स में शामिल हो गया। लेकिन, अब लोगों के सामने एक नई समस्या खड़ी हो गई है। कुछ डेवलपर्स ने इससे मिलती-जुलती एप्स बनाकर विभिन्न पोर्टल्स और प्ले स्टोर पर डाल दी हैं। लोगों को समझ नहीं आ रहा है कि असली एप कौन सा है और नकली एप कौन सा है। प्ले स्टोर पर Bhim payment updater 2017, Modi Bhim, *99# BHIM UPI Bank No internet जैसी कई एप्स मौजूद हैं।

कुछ एप्स में असली BHIM एप के इस्तेमाल और असली एप डाउनलोड करने का लिंक तक दिया गया है। ऐसे में बड़ा सवाल यह उठता है कि असली और नकली एप को कैसे पहचानें। BHIM एप सरकार के पुराने यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस) और यूएसएसडी (अस्ट्रक्चर्ड सप्लीमेंट्री सर्विस डाटा) का ही नया रूप है। इसके इस्तेमाल के लिए मोबाइल बैंकिंग की जरूरत नहीं है। सिर्फ मोबाइल नंबर बैंक खाते से लिंक होना चाहिए।

You Might Also Like