Online Chhattisgarh

  2016-05-18

गोधरा: मुख्य आरोपी फारुख भाना 14 साल बाद गिरफ्तार

अहमदाबाद। गुजरात एटीएस ने गोधरा ट्रेन आगजनी का मुख्य आरोपी फारुक भाना को बुधवार को गिरफ्तार करने मे सफलता हासिल की है। फारुक पिछले 14 साल से फरार था। फरवरी 2002 में गोधरा रेलवे स्टेशन के पास साबरमती एक्सप्रेस ट्रेन अग्निकांड में 59 कारसेवकों की मौत हो गई थी। ये कार सेवक अयोध्या से अपने घर लौट रहे थे। घटना के बाद गुजरात में कई स्थानों पर हुए दंगे भड़क गए थे जिसमें 1000 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। पुलिस की चार्जशीट में कहा गया है कि पूर्व निगम पार्षद फारुक ने 27 फरवरी 2002 को गोधरा में एक गेस्‍ट हाउस में करीब 20 लोगों की मीटिंग में हिस्‍सा लिया था। इसमें कथित तौर पर यूपी के अयोध्या से कार सेवकों को लेकर लौट रही ट्रेन पर हमला करने की साजिश रची गई थी। भीड़ ने गोधरा स्टेशन पर रुकते ही ट्रेन के कई कोचों को आग के हवाले कर दिया था। घटना में 50 से अधिक लोगों की मौत हुई थी, जिसमें कई महिलाएं और बच्चे शामिल थे। पुलिस जांच में नाम आने के बाद से ही फारुक भाना गिरफ्तारी से बचता फिर रहा था। आखिरकार, उसे मध्‍य गुजरात के कलोल टोल नाका से धरा गया। गोधरा ट्रेन आगजनी मामले में अब तक 30 से अधिक लोगो को दोषी ठहराया जा चुका है। फारुक सहित छह लोगों को फरार घोषित किया गया था।

You Might Also Like