Online Chhattisgarh

  2017-07-05

इस तरह से सिम लेने वाले हो जाएं सावधान क्योंकि....

OnlineCG न्यूज। अब फर्जी दस्तावेजों के माध्यम से मोबाइल सिम लेने वालों की खैर नहीं रहने वाली है। क्योंकि अब इन सबकी पहचान आसानी से होने लगी है और उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जा रही है। दरअसल लूट, हत्या, डकैती, अपहरण, ठगी, एटीएम फ्रॉड जैसे कई गंभीर वारदातों में पकड़े गए अपराधियों के पास से फर्जी सिम बरामद होने के मामलों में लगातार बढ़ोतरी होते देख टेलीकॉम इंर्फोसमेंट रिर्सोस एंड मॉनिटरिंग सेल ने सिम धारकों का वेरिफिकेशन शुरू कर दिया है। इसके परिणाम भी सामने आने लगे हैं। सेल की जांच में अकेले रायपुर जिले में फर्जी दस्तावेजों से चार से पांच सौ सिम खरीदने का खुलासा हुआ है। वहीं जांजगीर-चांपा में फर्जी तरीके से सिम बिक्री के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। इसके बाद बिलासपुर और रायगढ़ का नंबर है। सेल ने इनमें से कई प्रकरणों में एफआईआर दर्ज कराई है। जानकारी के अनुसार फर्जी दस्तावेजों से मोबाइल सिम हासिल करने वालों की पहचान होने के बाद भी सिम बंद नहीं करने पर उनके खिलाफ टेलीकॉम इंफोर्समेंट रिसोर्स एंड मॉनिटरिंग सेल ने कड़ा रुख अपनाया है। वहीं ऐसे सिम को ट्रेस करके उसे तुरंत बंद कराया जा रहा है। इससे फर्जी नंबर से होने वाले अपराध को रोकने में मदद मिल रही है। सेल के अधिकारियों ने नाम न छापने का आग्रह करते बताया कि अनजाने नंबर से आए कॉल की वजह से परेशान होने वाले उपभोक्ताओं की संख्या लगातार बढ़ रही थी। वहीं फर्जी नंबरों से कॉल करके एटीएम ब्लॉक करने की धमकी देकर ऑनलाइन ठगी की वारदात को भी देखते हुए सेल ने ऐसे नंबरों को ट्रेस करना शुरू किया है। जांच में यह बात सामने आई है कि सिम लेने के लिए डीलरों को जो दस्तावेज दिए गए थे, वह उसके हैं ही नहीं।

You Might Also Like