Online India

  2017-04-12

ऑल इंडिया मुस्लिम लॉ बोर्ड को चाहिए 18 महीने

OnlineCG ब्यूरो। ऑल इंडिया मुस्लिम बोर्ड के उपाध्यक्ष डॉ. सईद सादिक ने बड़ी घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि वो 18 महीनों में 3 तलाक खत्म कर देंगे। हलाकि उन्होंने तीन तलाक के मुद्दे पर सरकार के हस्तक्षेप पर आपत्ति दर्ज कराई और कहा कि इस मामले में बाहर के दखल की जरुरत नहीं है। अभी हाल ही में ऑल इंडिया मुस्लिम लॉ बोर्ड ने दावा किया था कि उन्हें शरीयत और तीन तलाक के पक्ष में मुस्लिम महिलाओं के करीब साढ़े तीन करोड़ फॉर्म प्राप्त हुए हैं। एआईएमपीएलबी की वुमेन विंग की चीफ ऑर्गनाइजर असमा जोहरा ने कहा था कि हमें शरियत और तीन तलाक का समर्थन करने वाली मुस्लिम महिलाओं के 3.50 करोड़ फॉर्म्स मिले, जबकि देश भर में इसका विरोध करने वाली मुस्लिम महिलाओं की संख्या काफी कम है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा था कि एक साथ तीन बार तलाक बोलना सामाजिक मुद्दा है, धार्मिक नहीं। पिछले ढाई साल से बेवजह तलाक के मुद्दे पर उंगली उठाई जा रही है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि तीन तलाक, निकाह हलाला और बहुविवाह की परंपराएं मुसलमानों के लिए अहम हैं। इन मसलों से उनकी भावनाएं जुड़ी हैं। कोर्ट ने फैसला किया था कि वो 11 मई से इन परंपराओं को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुनवाई करेगा। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड जैसे मुस्लिम संगठनों ने इन मामलों में अदालत के दखल का विरोध किया। बोर्ड ने कहा कि ये परंपराएं पवित्र कुरान से आईं है लिहाजा ये न्याय प्रणाली के दायरे में नहीं आती हैं।

Please wait! Loading comment using Facebook...

You Might Also Like