Online Chhattisgarh

  2016-11-09

पीएम मोदी ने किया 9/11 का धमाका, बनाया यादगार धमाकेदार ऐलानः 500-1000 रुपये के नोट बंद, 10 नवंबर से 30 दिसंबर तक बदले जा सकेंगे नोट

OnlineCG Desk। पिछली रात पीएम Narendra Modi ने एक बेहद धमाकेदार ऐलान कर दिया है जो देश की आर्थिक स्थिति में जोरदार बदलाव लाएगा। आधी रात से 500 रुपये और 1000 रुपये के नोटों को बंद कर दिया गया। पीएम मोदी ने देश के नाम संबोधन करने का अचानक ऐलान करके सबको चौंका दिया और इस संबोधन को आर्थिक महत्व से जोड़कर सबको स्तब्ध कर दिया। बैंक-डाकघर में जमा कराएं नोट 30 दिसंबर 2016 तक आपके पास जो भी 500 और 1000 रुपये के नोट हैं वो बैंक और डाकघर में जमा कर सकते हैं। 10 नवंबर से 30 दिसंबर 2016 के बीच बैंक, डाकघर में नोट जमा किए जा सकते हैं। एक और बड़ी खबर इसी फैसले के चलते 9 और 10 नवंबर को एटीएम काम नहीं करेंगे। जरूरत के लिए सभी को 100 रुपये के नोटों का बंदोबस्त करना होगा। पढ़ें पीएम ने बड़ा ऐलान करते हुए क्या कहा पीएम ने कहा, ”देश से भ्रष्टाचार और कालेधन को खत्म करने के लिए एक सख्त कदम उठाना जरुरी हो गया है। आज आधी रात से 500 और 1000 रुपये के नोट कानूनी रूप से अमान्य होगें। आज रात से 500 और 1000 के नोट महज कागज के टुकड़े रह जाएंगे। 500 और 1000 के नोट के अलावा सभी नोट पूर्व की तरह मान्य होंगे। इससे भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई को मजबूती मिलेगी। 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट 10 नवंबर 2016 से लेकर 30 दिसंबर 2016 तक बैंक या डाकघर में जमा करवा सकते हैं। ये 50 दिन का समय है। पैसा जमा करवाने की कोई जल्दबाजी नहीं होगी।” पीएम ने कहा, ”तत्काल आवश्कता के लिए आप अपने मान्य पहचान पत्र के साथ किसी बैंक या डाकघर से 4000 रुपये तक की सीमा तक बदल सकते हैं। 10 नबंबर के बाद इस सीमा में बढ़ोतरी की जाएगी।” पीएम ने कहा, ”मानवीय दृष्टिकोण से सामान्य नागरिकों के लिए कुछ सुविधाएं दी जा रही हैं। 11 नवंबर 2016 की मध्यरात्रि तक अस्पताल, रेलवे, बस और हवाई टिकट काउंटर पर पुराने 500 और 1000 रुपये नोट मान्य होंगे। इसके अलावा पेट्रोल पंप पर भी 11 नवंबर 2016 की रात 12 बजे तक पुराने 500 और 1000 रुपये नोट मान्य होंगे।” पीएम ने कहा, ”मैं आज आपसे कुछ महत्वपूर्ण विषय और निर्णय साझा करूंगा। जब आपने हमें 2014 में सत्ता सौंपी थी उस समय देश की अर्थव्यवस्था ऐसी थी कि ब्रिक्स में स्थिति लुढ़क रही है। आप सभी के सहयोग और भरोसे से आज विश्व में भारत ने अपनी चमकती उपस्थिति दर्ज कराई है। ये सिर्फ दावा नहीं है, आवाज़ IMF और वर्ल्ड बैंक में गूंज रही है। हमारी सरकार गरीबों को समर्पित है और रहेगी। हमारा मूल मंत्र है सबका साथ सबका विकास ये मूलमंत्र हमेशा रहेगा।

You Might Also Like